Diabetes

Why Diabetes

डायबिटीज क्यों होता है

हम जो खाना खाते हैं, उसमें पोषक पदार्थों की भारी कमी होती है. यही कमी डायबिटीज जैसी कई अन्य बिमारियों को जन्म देती है. जो खाना हम खाते हैं, वही भोजन पिंजरे में बंद पक्षी को देकर हमने देखा. कुछ ही दिनों में उसका सारा पंख उड़ गया और वह जानवर बहुत कमजोर हो गया.

कुपोषित भोजन की वजह से और वातावरण में टोक्सिन से कोशिकाओं में काफी क्षति हो रही है. हमारा शरीर इसे एक अकाल के तौर पर देखता है. और शरीर में वसा को जमा करना शुरू कर देता है. जिससे अकाल में मृत्यु से बचा जा सके.

वर्षों से चल रहे इस अघोषित अकाल की वजह से कोशिकाएं वसा (Fat) से भर जाती है. शरीर में कार्बोहायड्रेट और प्रोटीन से वसा (Fat) बनती है. क्योंकि कोशिकाएं वसा से भर चुकी होती है, इसलिए अब और शुगर को वसा में नहीं बदला जा सकता. और कोशिकाओं में शुगर का प्रवेश बंद हो जाता है, जिसे डायबिटीज कहते हैं. अब अगर आदमी खाना खाता है, तो शुगर बढ़ जाता है.

डायबिटीज की दवाएं कोशिकाओं में ग्लूकोज को ले जाते हैं. जिससे कुछ दिनों तक खून में ग्लूकोज कम किया जा सकता है. परन्तु इससे शरीर की कोशिकाओं का सुरक्षा प्रणाली (कोशिकाओं में ग्लूकोज के प्रवेश को रोकना ) ख़त्म हो जाता है. अत्यधिक वसा की वजह से कोशिकाओं की मृत्यु होने लगती है. और व्यक्ति अन्धापन, किडनी फेलियर, इत्यादि का शिकार होने लग जाता है. इस तरह दवाएं डायबिटीज के मरीज को और दयनीय स्थिति में ले जाता है, मरीज और ज्यादा बीमार हो जाता है.

डायबिटीज में शुगर लेवल क्यों बढता है?

शुगर का बढना भी एक लक्षण और शारीरिक बचाव प्रक्रिया है. कोशिकाएं अपने बचाव के लिए शुगर का प्रवेश रोक देती हैं और खून में शुगर बढ़ जाता है. खून में शुगर बढ़ने से शरीर पेशाब के द्वारा शुगर को निकालता है. यही हमारे शरीर का प्राकृतिक बचाव प्रक्रिया है.

हमारे अनुसंधानकर्ताओं और  विजय राघवन ने डायबिटीज के सैकड़ों मरीजों का अध्ययन कर पाया कि इन्सुलिन अथवा दवाओं से ज्यादा दिन तक शुगर नियंत्रित नहीं हो सकता. शरीर इन दवाओं और इन्सुलिन से प्रतिरक्षा कर लेती है, और इन दवाओं का असर ख़त्म हो जाता है.

मेटाबोलिक उपचार में भोजन तथा पानी में परिवर्तन के द्वारा शरीर की कोशिकाओं को स्वस्थ बनाया जाता है. इसे आप इस तरह से समझें. हमारा शरीर स्वस्थ होने के लिए तड़प रहा है. सिर्फ सही पोषण के अभाव में ऐसा नहीं हो रहा. अगर हम पोषणयुक्त भोजन लें, तो शरीर अतिरिक्त वसा / चर्बी को तुरंत ही हटा देता है और कोशिकाएं स्वस्थ हो जाती हैं.

डायबिटीज, उच्च रक्तचाप, कोरोनरी आर्टरी ब्लॉकेज इत्यादि एक साथ ख़त्म होता है.

एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में अभी 6.3 करोड़ लोग डायबिटीज से पीड़ित हैं. और वर्ष 2030 तक यह संख्या दस करोड़ के पार जा सकती है. कहीं आपको भी डायबिटीज तो नहीं है? अभी चेक करें:

Leave a Reply